Saturday, 2 May 2009

मिट्ठू मियाँ को देखिये कैसे ठुमक ठुमक के नाच रहे हैं !

स्नोबाल की एक नृत्य अदा !
पशु पक्षियों की बुद्धि बड़े औसत दर्जे की होती है -मगर कुछ नए अध्ययन सचमुच चौकाने वाले हैं ! अनिरुद्ध पटेल नामक वैज्ञानिक की अगुआई में पक्षी वैज्ञानिकों की एक टीम ने यह साबित कर दिया है की तोते की एक प्रजाति सल्फर क्रेस्टेड कोकैटू प्रजाति में संगीत की अच्छी खासी समझ है और वह सगीत के लय ताल पर ठुमके भी लगाता है ! जिस तोते पर यह अध्ययन किया गया है उसका नाम स्नोबाल है और इस अध्ययन से जानवरों में लय ताल की जैवीय अनुभूति के बारे में नयी जानकारियाँ मिल सकेगी ! सम्भव है यह अध्ययन मानसिक रुग्णता के रोगियों के इलाज में भी लाभदायक हो सके !

म्यूजिक का नाम है Backstreet Boys और स्नोबाल को उसके इस प्रदर्शन को लेकर बीक स्ट्रीट बॉय कहा जा रहा है ! आप भी जरूर इस नृत्य समारोह का लाभ उठाएं ! यहाँ !




14 comments:

Udan Tashtari said...

हमने तो अपने तोते को भी म्यूजिक पर नाचते देखा है.

P.N. Subramanian said...

बहुत ही सुन्दर. सिंगापूर के जुरांग बर्ड पार्क में भी पक्षियों से ऐसे ही कुछ करतब दिखलाये जाते हैं. कुछ तो आपसे बातचीत भी कर लेते हैं. (सीमित)

महामंत्री - तस्लीम said...

बहुत खूब। बडे बडे नर्तक लजा जाएं इसे देख कर।

-----------
TSALIIM
SBAI

Cyril Gupta said...

झक्कास! ऐसा मस्त तोता कभी नहीं देखा, क्या नाचता है! एकदम शाहरुख खान के जैसा! ले

किन गाना बैकस्टृीट ब्वायज़ जइसा ढीला बैन्ड का नहीं है, ये तो एकदम झकास गाना है Queen का जो की अपना भी एकदम फेवरेट बैण्ड है. उसका लीड सिंगर है न, बोले तो, फ्रेड्डी मरक्यूरी, क्या मस्त आदमी था, अपना इधर, मुम्बई की ही पार्टी था.. बाद में ब्रिटैन जा के मस्त गाना-वीना गा के हिट होयेला.

विडियो मस्त था, बोले तो झक्कास!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

सुन्दर जानकारी!

Mired Mirage said...

मुझे तो पहले से ही विश्वास था कि पशु पक्षी हमसे बेहतर हैं, नाचने के मामले में तो कोई सदेह ही नहीं।
घुघूती बासूती

डॉ .अनुराग said...

दिलचस्प !

डॉ. मनोज मिश्र said...

जानकारी और आनन्द दोनों .मज़ा आ गया .

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

ग़ज़ब.

अनिल कान्त : said...

bahut sahi !!

मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

Saiyed Faiz Hasnain said...

काफी अच्छी जानकारी दे रहे पिछले दिनों से आप ....और जब जानकारी मनोरंजन के तडके के साथ हो तो बात ही अलग हो जाती है । वाकई मज़ा आ गया ....

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत रोचक और मनोरंजक लगा.

रामराम.

रंजना [रंजू भाटिया] said...

रोचक ,दिलचस्प है यह

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

गजब - जैसे प्रोग्रामिंग की गई हो तोते की!